देखे कहां अंधविश्वास के चलते 12 वर्षीय मासूम ने तड़प तड़प कर तोड़ दिया दम सांप ने डसा अस्पताल में इलाज कराने की बजाए झाड़ फूंक में फंसे रहे परिजन

5

 

लखन राजपूत,

छतरपुर जिले में अंधविश्वास के चलते फिर एक मासूम की मौत हो गई। सांप के कांटने के बाद परिजन डॉक्टर के पास ले जाना छोड़ ढोंगी बाबा के पास झाडफ़ूंक करवाया। वहीं, जब हालत बिगडऩे के बाद भी मासूम की स्थिति में सुधार नहीं आया तो उसे डॉक्टरों ने जिला अस्पताल ले जाने को कहा। लेकिन परिजन अस्पताल की जगह मंदिर ले गए। और मासूम ने दम तोड़ दिया।यह घटना छतरपुर जिले के बड़ामलहरा थाना क्षेत्र के महाराजगंज की है। इधर मौत को लेकर लोगों में तरह-तरह की बातें हो रही है।

*मासूम राकेश की तड़पकर हो गई मौत*

लोग आज भी नहीं समझ पा रहे कि सांप के डंसने से इलाज झाडफ़ूंक से नहीं हो सकता। बावजूद अंधविश्वास में जकड़े लोग अस्पताल में उपचार के बजाए झाडफ़ूंक कराते है। राकेश पिता हीरालाल कुशवाहा (12) निवासी महाराजगंज दो दिन पहले सुबह खेत से लकड़ी बीन कर घर जा रहा था। इसकी दौरान रस्ते में एक सर्प ने डस लिया, जिसकी जानकारी मिलने पर परिजनों ने अस्पताल ले जाने की बजाए गांव में ही काफी समय तक झाड़-फूंक कराते रहे। झाड़ फूंक के चक्कर में मासूम की तबियत और बिगड़ गई। इसके बाद मासूम को परिजन बड़ामलहरा प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र ले गए। हालत नाजुक होने पर डॉक्टर्स ने उसे जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। फिर भी परिजन जिला अस्पताल की बजाए टीकमगढ़ एक मंदिर में ले गए और फिर झाड़ फूंक कराने लगे।

*एक नहीं कई लोग हुई अंधविश्वास के शिकार*

छतरपुर जिले के अधिकतर ग्रामीण क्षेत्रो में सांप के कांटने के बाद झाडफ़ूंक कर इलाज करावानें की प्रथा प्रचलित है। बावजूद इसके चक्कर में मौत की खबर सामने आने के बाद भी लोग सबक नहीं ले रहे हैं। हाल में सामने आई घटना के बाद लोगों का कहना है कि समय पर डॉक्टर की सुविधा नहीं मिलने और पैसे की बचत के चलते लोग बाबाओं के पास झाडफ़ूंक करवाते हैं। आपको बता दें कि प्रदेश में हर साल सांप कांटने के बाद समय पर डॉक्टरी उपचार नहीं मिलने के कारण अब तक कई मासूम राकेश जैसे कई लोग बेमौत मारे गए।

5 COMMENTS

  1. … [Trackback]

    […] Read More on|Read More|Find More Infos here|There you can find 20134 additional Infos|Informations to that Topic: tezcoverage.com/snake-bite-news-tez-coverage/ […]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here