Neem Cure Coronavirus | Neem Leaf Cure Coronavirus Disease (COVID-19); Can Neem Help Prevent Infection, All You Need To Know | क्या मलेरिया की दवा वायरस से बचा सकती है, और क्या नीम की पत्तियां खाने से कोई फायदा होता है

24


  • भले ही नोट या सिक्कों से वायरस फैलने का मामला सामने नहीं आया, लेकिन सावधानी जरूर बरतें

  • हाथ में 4-Five घंटे तक जिंदा रह सकता है वायरस, इसलिए बाहर से आएं तो साबुन से हाथ जरूर धोएं

  • जो मरीज ठीक हो चुके हैं वो भी सावधानी बरतें, ये न सोचें कि दवाइयां ले चुके हैं और अब संक्रमण नहीं होगा

दैनिक भास्कर

Apr 20, 2020, 10:30 AM IST

नई दिल्ली. क्या नीम की पत्तियों से कोरोना के संक्रमण रोका जा सकता है, क्या सिगरेट के धुएं से भी वायरस का खतरा है और मलेरिया की सस्ती दवा हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का सेवन कौन कर सकता है… कोरोना से जुड़े ऐसे कई सवालों के जवाब ऑल इंडिया रेडियो ने ट्विटर पर जारी किए हैं। डॉ. एके  वार्ष्णेय, आरएमएल हॉस्पिटल, नई दिल्ली से जानिए इन सवालों के जवाब…

#1) क्या हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन लेकर वायरस से बचा जा सकता है ​​​​​?
वर्तमान में हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन का प्रयोग कोरोना संक्रमितों के इलाज में किया जा रहा है। सरकार के निर्देश के मुताबिक, ऐसे डॉक्टर जो कोविड-19 का इलाज कर रहे हैं, जरूरत पड़ने पर वही ये दवा दे सकते हैं। बहुत लोगों को लग रहा है कि हाइड्रोक्सीक्लोरोक्वीन लेने पर कोरोनावायरस के संक्रमण से बच जाएंगे। ध्यान रखें ऐसा करने से बुरा असर पड़ सकता है। बिना डॉक्टरी सलाह के इसे न लें।

#2) क्या सिगरेट के धुएं से भी वायरस का खतरा है?
कोरोनावायरस का संक्रमण सिगरेट के धुएं से नहीं फैलता है, लेकिन धुआं फेफड़ों को खराब करता है। अगर कोई ज्यादा सिगरेट पीता है तो उसका फेफड़ा कमजोर होगा और ऐसे लोगों को वायरस के संक्रमण का खतरा ज्यादा है। जो इंसान किसी भी तरह का धूम्रपान करते हैं, उनमे संक्रमण जल्दी फैलने का खतरा है।

#3) अगर कोरोनावायरस की दवा नहीं है तो लोग ठीक कैसे हो रहे हैं?
जी हां, अभी वायरस की कोई दवा नहीं है। फिलहाल अलग-अलग लक्षणों के मुताबिक दवाएं दी जा रही हैं, जैसे बुखार आदि। वायरस से संक्रमित अधिकतर रोगी खुद ही ठीक हो जाते हैं। इसलिए वर्तमान में सिर्फ एक ही दवा है, घर में रहें और सोशल डिस्टेंसिंग को बनाकर रखें।

#4) क्या नीम की पत्ती खाने से कोरोनावायरस के संक्रमण से बच सकते हैं?
अलग-अलग रोगों से बचने के लिए आयुर्वेद में कई चीजों को खाने के बारे में कहा जाता रहा है लेकिन कोरोनावायरस से बचने में ये कितना असर डालेंगी शोध के बाद ही सामने  आ पाएगा। फिलहाल इसका कोई प्रमाण नहीं है।

#5) नोट और सिक्के पर वायरस कितने दिन तक वायरस जिंदा रहता है?
कोरोनावायरस 190 देशों में फैल चुका है लेकिन अब तक खाने की चीजों और नोट से इसके फैलने की बात सामने नहीं आई है। एहतियात के तौर पर इससे बचने की सलाह दी जा रही है। ऑनलाइन पेमेंट करना बेहतर विकल्प है। अगर पेमेंट नोट से ही करना है तो इसे सीधे बटुए या पर्स में रखने की जगह अलग पन्नी में रखें। दुकानदार से जब पैसे वापस लें तो उसे भी पन्नी में ही रख लें। घर आने के बाद हाथ जरूर धोएं। संभव हो तो सैनेटाइजर अपने पास रखें। नोट पकड़ने से पहले अपने हाथ में इसे लगा लें।

#6) हाथ पर कितने समय तक एक्टिव रहता है वायरस?
हाथ पर कितने समय तक वायरस जिंदा रहेगा, अब तक ऐसा किसी भी शोध में सामने नहीं आया है। अगर माना जाए, तो यह 4-Five घंटे तक जिंदा रह सकता है। इस दौरान हमारा हाथ मुंह और नाक के पास न जाए, ऐसा हो ही नहीं सकता। इसलिए, बाहर से आए हैं तो हाथों को साबुन से जरूर धोएं।

#7) क्या घर के अंदर मास्क लगाना जरूरी है?
अगर घर के अंदर हैं और परिवार का कोई सदस्य संक्रमित नहीं है, तो मास्क लगाने की जरूरत नहीं है लेकिन बाहर जाएं तो मास्क जरूर लगा लें।

#8) क्या एक दूसरे के मास्क का प्रयोग कर सकते हैं?
नहीं, ऐसा बिल्कुल न करें। एक घर में रहने वाले एक-दूसरे के मास्क का इस्तेमाल न करें। अभी तो संक्रमण फैल रहा है लेकिन आम दिनों में भी एक-दूसरे का तौलिया, बिना धुले कपड़ों का प्रयोग न करें। अगर घर पर पर्याप्त मास्क नहीं हैं, तो रुमाल से नाक और मुंह को कवर करें। ये ध्यान रखना है कि उनकी परतें मोटी हों।

#9) जो लोग कोरोना से संक्रमित होने के बाद ठीक हो गए हैं, उन्हें क्या सावधानी बरतनी चाहिए?
जो ठीक होकर घर पहुंच चुके हैं, उन्हें भी उतनी सावधानी बरतनी है जितना ध्यान दूसरे लोग रख रहे हैं। अभी लॉकडाउन जारी है, इसका मतलब है बाहर संक्रमण का खतरा है। इसलिए ऐसा मत सोचिए कि आप दवाइयां ले चुके हैं, तो संक्रमित नहीं होंगे।



Source link