आबकारी विभाग की लापरवाही से जशपुर में भी हो सकता है जहरीली शराब का जानलेवा कांड

0

पत्थलगांव / छत्तीसगढ़

रमेश शर्मा

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में गांव गांव में हो रहा अवैध शराब का निर्माण और धड़ल्ले से हो रही बिक्री को लेकर कुनकुरी अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष अद्याशंकर त्रिपाठी ने गहरी चिंता व्यक्त की है। उन्होने कहा कि इस दिशा में समय रहते अवैध शराब बनाने वालों पर ठोस कार्रवाई नहीं की गई तो यंहा भी उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड की तरह जहरीली शराब का जानलेवा हादसा घटित हो सकता है।

वरिष्ठ अधिवक्ता श्री त्रिपाठी ने आज कहा कि जिले में ग्रामीण और शहरी अचंल में बगैर मापदंड एंव जांच परख के तैयार हो रही इस अवैध शराब का सेवन करने वालों के साथ यंहा भी उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड की तरह कभी भी बड़ा जानलेवा हादसा हो सकता है। जिले में पत्थलगांव, फरसाबहार, कांसाबेल, कुनकुरी तथा दूर दराज के गांवों में इन दिनों जगह जगह अवैध शराब का धंधा जोरो से चल रहा है। श्री त्रिपाठी ने जानकार सूत्रों के हवाले से बताया कि अधिक मुनाफा के चक्कर में महुआ की कच्ची शराब में विभिन्न घातक सामग्री की मिलावट कर दी जा रही है। शहरी एंव ग्रामीण अचंल के साथ हाइवे पर संचालित ढ़ाबों में भी महुवा की अवैध शराब धडल्ले से बिक्री होने के बावजूद आबकारी विभाग इस दिशा में कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

श्री त्रिपाठी ने कहा कि जशपुर से पत्थलगांव तक हाइवे पर संचालित लाईन होटलों में शराब की अवैध बिक्री की शिकायतों के बाद भी इसकी रोकथाम नहीं होने से यह अवैध धंधा जगह जगह फलने फूलने लगा है। जशपुर जिले में आगकारी विभाग की लापरवाही के संबंध में अधिवक्ता श्री त्रिपाठी ने मुख्यमंत्री को पत्र लिख कर इस दिशा में आबकारी विभाग के उच्च अधिकारियों को दंडित करने की बात कही है।