भू जल स्तर की गिरावट रोकने जमीन पर ही करेंगे ठोस उपाय: कलेक्टर क्षीरसागर

0

पत्थलगांव छत्तीसगढ़
रमेश शर्मा

छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में लगातार हो रही भू जल स्तर में गिरावट की विकराल समस्या से निपटने के लिए शहरी और ग्रामीण क्षेत्र में पुराने अनुपयोगी कुओं को उपयोगी बनाने की शुरूवात की गई है।
कलेक्टर निलेश क्षीरसागर का कहना है कि भू जल स्तर में तेजी से हो रही गिरावट को रोकने के लिए जमीन पर ही कुछ ठोस उपाय करने होंगे. कलेक्टर की पहल से नागरिकों ने गर्मी से पहले कुड़ा कचरा से पट कर अनुपयोगी हो चुके कुओं को चिन्हाकित कर इनकी साफ सफाई का काम शुरू किया है. श्रमदान से पुराने जलस्त्रोंतों को फिर उपयोगी बनाए जाने से लोगों को बदबूदार वातावरण से भी राहत मिलने लगेगी .

श्री क्षीरसागर ने आज बताया कि जिले में जल स्तर में गिरावट को रोकने के लिए यंहा 2000 डबरी निर्माण का कार्य को स्वीकृति दी गई है। ग्राम पंचायतों के माध्यम से डबरी निर्माण के साथ गांव के बेका बहने वाले नालों का पानी को रोकने के लिए मिटटी के अस्थायी बांध बनाने की भी पहल की जा रही है।

उन्होने कहा कि यंहा कूड़ा कचरा से पट गए पुराने कुंओं को चिन्हाकिंत कर इन जल स्त्रोतों को फिर से उपयोगी बनाया जा रहा है। जिला मुख्यालय से पुराने कुओं को पुर्नजीवित करने के काम को कस्बों से गांवों तक पहुंचाया जा रहा है। श्री क्षीरसागर ने कहा कि भम जल स्तर में तेजी से हो रही गिरावट को रोकने के लिए वाटर हावेस्टिंग का काम को भी अनिवार्य बनाया गया है। उन्होने बताया कि स्वच्छता अभियान की तरह भू जल स्तर में गिरावट को रोकने के लिए नागरिकों से अच्छा सहयोग मिलने लगा है।