दिव्यांगता से बचने यातायात नियमों का सख्ती से पालन बेहद जरूरी  : क्षीरसागर

0

पत्थलगांव. छत्तीसगढ़
रमेश शर्मा

देशभर में जितनी दिव्यांगता सडक़ हादसों की वजह से हो रही हैं उतनी किसी बीमारी से नहीं होती।इस जटिल समस्या से बचने के लिए हमें यातायात नियमों का सख्ती से पालन करना बेहद जरूरी है.

उक्त बातें रविवार को जशपुर में राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा विषय पर आयोजित जन जागरूकता सम्मेलन में कलेक्टर निलेश क्षीरसागर ने कही.

उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से स्वास्थ्य की सुरक्षा के लिए टीकाकरण तथा अन्य योजनाओं के संचालन में करोड़ों, अरबों रुपए खर्च किया जा रहा है,इसके बावजूद दिव्यांगता की समस्या को रोक पाना एक बड़ी चुनौती हो गई है। इसकी वजह साफ है कि दिव्यांगता बीमारी से कम और सडक़ हादसों से ज्यादा आ रही है।

श्री क्षीरसागर ने कहा, यातायात के नियमों का सख्ती से पालन करना ही इसका बचाव है। इसलिए यातायात नियमों को पालन करने के काम को अपनी आदत का हिस्सा बना लें। जो आदत एक बार बन गई वह छूटती नहीं है। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र के पुणे शहर में यातायात के नियमों का पालन सख्ती से किया जाता है। इस वजह वे बचपन से ही यातायात नियमों के प्रति सजग रहने लगे थे मौजूदा दौर में जब भी अपनी कार चलाने के लिए बैठते हैं तो बगैर सीट बेल्ट बांधे बिना गाड़ी नहीं चलाते हैं. उन्होंने कहा कि यातायात नियमों का सख्ती से पालन करने से सडक़ हादसों में होने वाले नुकसान से बचा जा सकता है। इस समारोह में पुलिस अधीक्षक शंकर लाल बघेल, जिला पंचायत सीईओ कुलदीप शर्मा ,जिला यातायात प्रभारी सौरभ चन्द्राकर ने भी सड़क सुरक्षा के नियमों का दृढता से पालन करने की बात पर जोर दिया.